Singer Lata Mangeshkar

Aye mere vatan me logo
(Lata mangesker)लता जी के आवाज़, 
एक ऐसी आवाज़ है जिसने कभी पंडित नेहरू को रुलाया है  तो कभी सरहद पर जवानों का होसल बढ़ाया है
तो कभी हर इंसान के दिल
में देशभक्ति का जज़्बा
जगाया है
aye mere vatan ke logon,
tum khub laga lo naara
yeh shubh din hai ham sab kaa,
lahara lo tiranga pyaara

par mat bhulo sima paar,
viron ne hai praan ganvaaye
kuchh yaad unhe bhee kar lo – (2)
jo laut ke ghar naa aaye – (2)

aye mere vatan ke logon,
jara aankh me bhar lo paanee
jo shahid huye hain unakee,
jara yaad karo kurbaanee
jab ghaayal huwa himaalay,
khatare me padee aajaadee
jab tak thee saans lade woh,
phir apni laash bichha dee
sangin pe dhar kar maatha,
so gaye amar balidaanee
jo shahid huve hain unki
Jara yad karo kurbani
jab desh me thee diwali,
woh khel rahe the holee
jab ham baithe the gharo me, 
woh jhel rahe the golee

the dhanya javaan woh aapane, 
thee dhanya woh unakee javaanee
jo shahid huve hain unki 
Jara yad karo kurbani

koyee sikh koyee jat maratha, 
koyee gurakha koyee madaraasee
sarahad pe maranevala,
har veer tha bhaaratavaasee

jo khun gira parvat par, 
woh khun tha hindustani
jo shahid huve hain unki 
Jara yad karo kurbani

thee khun se lath path kaaya, 
phir bhee banduk uthaake
das das ko ek ne maara,
phir gir gaye hosh ganvaake

jab ant samay aaya toh, 
kah gaye ke abb marate hain
khush rahana desh ke pyaaro, 
abb ham toh safar karate hain

kya log the woh divaane, 
kya log the woh abhimaanee
jo shahid huve hain unki 
Jara yad karo kurbani

tum bhul naa jaao unako,
iss liye kahee yeh kahaanee
jo shahid huve hain unki 
Jara yad karo kurbani

jay hind, jay hind kee sena – (2)
jay hind, jay hind, jay hind

aye mere watan ke logo lyrics in hindi(ऐ मेरे वतन के लोगों)– Lata Mangeshkar Lyrics

ऐ मेरे वतन के लोगों
तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का
लहरा लो तिरंगा प्यारा

पर मत भूलो सीमा पर
वीरों ने है प्राण
गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो
कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर ना आये
जो लौट के घर ना आये

ऐ मेरे वतन के लोगों
ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी

 Vande  matram lyrics

तुम भूल ना जाओ उनको
इसलिए सुनो ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी

जब घायल हुआ हिमालय
खतरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लड़े वो
फिर अपनी लाश बिछा दी

संगीन पे धर कर माथा
सो गए अमर बलिदानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी

कोई सिख, कोई जाट मराठा
कोई गुरखा, कोई मदरासी
सरहद पर मरनेवाला
सरहद पर मरनेवाला
हर वीर था भारतवासी

जो खून गिरा पर्वत पर
वो खून था हिंदुस्तानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी

थी खून से लथ-पथ काया
फिर भी बंदुक उठाके
दस-दस को एक ने मारा
फिर गिर गए होश गँवा के
जब अंत समय आया तो
कह गए के अब मरते हैं
खुश रहना देश के प्यारों

खुश रहना देश के प्यारों

अब हम तो सफ़र करते हैं
अब हम तो सफ़र करते हैं

क्या लोग थे वो दीवाने
क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी

जय हिंद
जय हिंद की सेना
जय हिंद
जय हिंद की सेना
जय हिंद, जय हिंद, जय
हिंद

Play Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here