Singer Jaisankar choidhary
भगत के वश में है भगवान(bhagat ke bas me hai bhagvan lyrics in Hindi)

भगत के वश में है भगवान📿
भक्त बिना ये कुछ भी नहीं है📿
भक्त है इसकी शान📿

भगत मुरली वाले की रोज बृन्दावन डोले📿
कृष्णा को लल्ला समझे, कृष्णा को लल्ला बोले📿
श्याम के प्यार में पागल, हुई वो श्याम दीवानी📿
अगर भजनो में लागे, छोड़ दे दाना पानी📿
प्यार कारन वो लागी उससे अपने पुत्र समान📿
भगत के वश में है भगवान…📿

वो अपने कृष्णा लला को गले से लगा के रखे📿
हमेशा सजा कर रखे की लाड लड़ा कर रखे📿
वो दिन में भाग के देखे, की रात में जाग के देखे📿
कभी अपने कमरे से, श्याम को झांक के देखे📿
अपनी जान से ज्यादा रखती अपने लला का ध्यान📿
भगत के वश में है भगवान…📿

वो लल्ला लल्ला पुकारे हाय क्या जुल्म हुआ रे📿
बुढ़ापा बिगड़ गया जी लाल मेरा कैसे गिरा रे📿
जाओ डॉक्टर को लाओ लाल का हाल दिखाओ📿
अगर इसको कुछ हो गया मुझे भी मार गिराओ📿
रोते रोते पागल होगई घर वाले परेशान📿
भगत के वश में है भगवान…📿

नब्ज को टटोल के बोले, ये तेरा लाल सही है📿
कसम खा के कहता हूँ कोई तकलीफ नहीं है📿
वो माथा देख के बोले ये तेरा लाल सही है📿
माई चिंता मत करियो कोई तकलीफ नहीं है📿

जोहि सीने से लगाया पसीना जम कर आया📿
उसने कई बार लगाया और डॉक्टर चकराया📿
धड़क रहा सीना लल्ला का, मूर्ति में थे प्राण📿
भगत के वश में है भगवान…📿

देख तेरे लाल की माया बड़ा घबरा रहा हूँ📿
जहाँ से तू लल्ला लाई वही पे जा रहा हूँ📿
लाल तेरा जुग जुग जिए बड़ा एहसान किया है📿
आज से सारा जीवन उसी के नाम किया है📿
बनवारी तेरी माँ नहीं पागल पागल सारा जहाँ📿
भगत के वश में है भगवान…📿
वृंदावन बिहारी लाल की जय📿

Bhagat ke bas me hai bhagwan lyrics

bhagat ke bas me hai 
agat ke vah me hai bhagwan
bhakt bina ye kuch bhi nahi hai📿
bhakt hai iski shaan📿
bhagat murli wale ki roj vrindavan dole📿
krishna ko lalla samajhe, krishna ko lalla bole📿
shyam ke pyar me pagal, huyee wo shyam Diwali📿
agar bhajno me lage, chhod de dana pani📿
pyar karan wo lagi usse apne putra saman📿
bhagat ke bash me hai bhagwan 📿
wo apne krishna lala ko, gale se laga ke rakhe📿
hamesha saja kar rakhe, ki lad lada ke rakhe📿
wo din me bhag ke dekhe, ki rat me jag ke dekhe📿
kabhi apne kamre se, shyam ko jhank ke dekhe📿
apni jan se jyada rakhti apne lala ka dhyan📿
bhagat ke vash me hai bhagwan 📿
wo lalla lalla pukare, hay kya julm hua re📿
budhapa bigad gaya jee, lal mera kaise gira re📿
jao doctor ko lao, lal ka hal dikhao📿
agar isko kuch gaya, mujhe bhi mar girao📿
rote rote pagal ho gayee ghar wale pareshan📿
bhagat ke vash me hai bhagwan📿
nabj ko tatol ke bole, ye tera lal sahi hai📿
kasam kha ke kahata hu, koi taklif nahi hai📿
wo matha dekh ke bole, ye tera lal sahi hai📿
mayee chinta mat kariyo, koi taklif nahi hai📿
johi sine se lagaya, pasina jamkar aya📿
usne kai bar lagaya, aur doctor chakraya📿
dhadak raha sina lalla ka, murti me the pran📿
bhagat ke vash me hai bhagwan📿
dekh tere lal ki maya, bada ghabra raha hu📿
jaha se tu lalla layee, whi pe ja rha hu📿
lal tera jug jug jiye, bada ahsan kiye hai📿
aaj se sara jeevan, usi ke nam kiya hai📿
banwari teri ma nahi pagal, pagal sara jahan📿
bhagat ke bash me hai bhagwan 📿

Play Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here